October 29, 2020

THF

THE HINDI FACTS

rajasthan sarkari yojana

Rajasthan Sarkari Yojana

Rajasthan Sarkari Yojana  सूची

राजा का प्रथम कर्तव्य होता है कि वह अपनी प्रजा की समुचित देख भाल करे । अपने राज्य का सही प्रकार से संचालन कर । अपने राज्य को सबसे अच्छा और सर्वश्रेष्ठ बनाने के लिए जो भी सम्भव हो वह करना उसका प्रथम कर्तव्य होता है । आज के युग मे वह राजशाही खत्म हो गयी है । आज जनता काम करने वाली सरकार का चयन खुद करती है वह भी हर पांच साल में ।

पाँच साल में जनता यह अच्छे से जान जाती है कि कौन काम करने वाल है और कौन नही उसके आधार पर वह चुनावो में अपने उम्मीदवारों का चयन करती है । सभी राजनेता भी अपने क्षेत्र की सही प्रकार से सेवा करने के लिए एक सरकार का गठन करते है और फिर अनेक योजनाओं के माध्यम से समाज के हर तबके का विकास करने। के लिए अनेक प्रकार की योजनाएं लेकर आते है ।

ये योजनाएं समाज के हर क्षेत्र को छूने का प्रयास करती है । ऐसी बहुत सी योजनाए सरकार लेकर आती है लेकिन हमें बहुत सी योजनाओं के बारे में पता नही होता है और हम उन योजनाओं का लाभ नही उठा पाते है ।

 

 

आपको इन योजनाओं का समुचित लाभ मिले इसके लिए हम आपके लिए राजस्थान सरकार द्वारा चलाई जा रही बहुत सी योजनाओं की सम्पूर्ण जानकारी जैसे इस योजना का उद्देश्य क्या है ? इस योजना के लिए कौन पात्र है कौन नही? इस योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज कौन कौनसे है , आवेदन प्रक्रिया क्या और इस योजना से होने वाले लाभ क्या है जैसी सम्पूर्ण आपके लिए लेकर आये है ।

 

1. पालनहार योजना-Rajasthan Sarkari Yojana 

 

इस योजना में अनाथ बच्चो का पालन किसी संस्था के द्वारा ना करवाकर समाज मे बच्चे के निकटवर्ती रिश्तेदार को उसका पालनहार बनाया जाता है । जिसे उस बच्चे का पालन पोषण के लिए आवश्यक अनुदान दिया जाट है । यह योजना भारत मे चलाई जाने वाली सभी योजनाओं में सबसे अनूठी योजना है । इस योजना में अनाथ बच्चे के पालनहार को जो उसे बच्चे की परवरिश करेगा उसे उस बच्चे की 5 साल आयु पूर्ण होने तक 500 रुपये प्रतिमाह का अनुदान तथा स्कूल में प्रवेश लेंने के बाद 18 साल की उम्र तक 1000 रुपये प्रतिमाह अनुदान राशि प्रदान की जाती है । ताकि उसका ठीक तरह से पालन पोषण हो सके । बच्चे की आवश्यक जरूरतों जैसे कपड़े आदि के लिए 2000 रुपये की राशि प्रति वर्ष दी जाती है ।

इस योजना में जुड़ी श्रेणियां जो इसका लाभ उठा सकती है या पात्रता –

1. वे बच्चे जो अनाथ है यानी जिनके माता पिता की मृत्यु हो चुकी हो ।
2. पुनर्विवाहित विधवा माता की संतान
3. निराश्रित पेंशन की पात्र विधवा माता की अधिकतम तीन संताने
4. न्यायिक प्रक्रिया से मृत्यु दंड या आजीवन कारावास माता पिता की सन्तान
5. एड्स पीड़ित माता पिता की संतान
6. कुष्ठ रोग से पीड़ित माता पिता की सन्तान
7. विकलांग माता पिता की संतान
8. तलाकशुदा / परित्यक्ता महिला की सन्तान
9. पालनहार परिवार की वार्षिक आय 1 लाख 20 हजार से ज्यादा नही होनी चाहिए ।
10. बच्चे को 2 वर्ष की आयु में आंगनबाड़ी केंद्र तथा 6 वर्ष की आयु में स्कूल में भेजना अनिवार्य है ।

 

आवेदन की प्रक्रिया –

 

1. इस योजाना की आधिकारिक वेबसाइट sje.rajasthan.gov.in पर जाकर पालनहार योजना के लिए आवेदन को चाही गयी आवश्यक जानकारियों के साथ भरना होगा और उसे ऑनलाइन ही सबमिट भी करना होगा ।

लाभ

1. प्रति माह बच्चे की 5 साल की आयु पूर्ण होने तक 500 रुपये की राशि का अनुदान दिया जाता है ।
2. बच्चे का स्कूल में प्रवेश होने के बाद सरकार द्वारा उसकी आयु 18 साल पूर्ण होने तक 1000 कि राशि प्रति माह अनुदान के रूप में दी जाती है ।
3. बच्चे की अन्य आवश्यकता जैसे स्वेटर , जूते , कपड़ो के लिए प्रतिवर्ष 2000 की राशि अलग से दी जाती है ।

 

2. राजस्थान तारबंदी योजना-Rajasthan Sarkari Yojana 

 

इस योजना के माध्यम से राजस्थान सरकार किसानों को अपने खेतो की तारबंदी करने के लिए 50 प्रतिशत तक राशि उपलब्ध करवाती है । क्योंकि खेतो तारबंदी करने के लिए किसान को काफी रुपयों की आवश्यकता होती है । इसी समस्या के समाधान के लिए सरकार किसानों को तारबंदी करने के लिए आवश्यक अनुदान राशि उपलब्ध करवाती है ।

पात्रता

1. इस योजना के लाभ उठाने वाला किसान राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए।
2. इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान के पास कम से कम 0.5 हेक्टेयर की कृषि योग्य भूमि होनी आवश्यक है ।
3. अगर आप पहले से ही किसी योजना का लाभ उठा रहे है तो आपको इस योजना का लाभ नही मिलेगा ।
आवश्यक दस्तावेज
1. लाभ लेने वाले किसान के पास स्वयं का आधार कार्ड होना आवश्यक है ।
2. किसान के परिवार का राशन कार्ड
3. कृषि योग्य भूमि की जमाबंदी

आवेदन की प्रक्रिया

1. इस योजना में आवेदन करने के लिए सबसे इसकी आधिकारिक वेबसाइट agriculture.rajasthan.gov.in पर जाकर तारबंदी योजना के लिए आवेदन फॉर्म को भरना होगा । इस आवेदन फॉर्म में चाही गयी आवश्यक जानकारियां सही सही भरकर फॉर्म सबमिट करना होगा । इस प्रकार आप इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है ।
2. फॉर्म सबमिट होने के बाद सम्बंधित अधिकारियो के द्वारा पात्रता की जांच की जाएगा उसके बाद सरकार द्वारा अनुदान राशि प्रदान की जाएगी ।

लाभ

1. इस योजना से किसानों को अपने खेतों की तारबंदी करने के लिए आने वाले खर्च का 50 प्रतिशत तक अनुदान दिया जाता है ।
2. किसानों की पैदावार बढ़ेगी
3. किसानों की फसलों को आवारा जानवरो से होने वाले नुकसान से मुक्ति मिलेगी ।
3. इससे राजस्थान कृषि क्षेत्र में उन्नत होगा ।

 

3. उत्तर मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना-Rajasthan Sarkari Yojana 

 

राजस्थान सरकार के द्वारा अनुसूचित जाति , अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग यानी sc , st और obc के लिए लायी गयी योजना है । इस योजना के तहत जिनके माता पिता की वार्षिक आय 1लाख रुपये तक हूं उन्हें ही यह छात्रवृति प्रदान की जाएगी। इए योजना में कॉलेज में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को आगे की पढ़ाई के लिए सहायता राशि दी जाती है जिससे वह बालक अपनी पढ़ाई पूरी कर सके । ये योजना गरीब और मेधावी छात्रों के लिए सबसे अच्छी और फायदेमंद योजना है।

पात्रता –

1. आवेदक के माता पिता की वार्षिक आय 1 लाख ओर 2 लाख रुपये से ज्यादा नही होनी चाहिए ।
अनुसूचित जाति , अनुसूचित जनजाति से आने वाले विद्यार्थियों के माता पिता की वार्षिक आय सीमा 2 लाख रुपये है और अन्य पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों के माता पिता की वार्षिक आय सीमा 1 लाख रुपये तक है ।
2. आवेदक राजस्थान का मूल निवासी होना चाहिए ।
3. छात्र अनुसूचित जाति , अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग से होना चाहिए ।

आवश्यक दस्तावेज –

इस योजना के लिए आवेदन के लिए के लिए आवश्यक दस्तावेज निम्न है

1. छात्र का जाति प्रमाण होना चाहिए जिससे ये पता लगाया जा सके कि विद्यार्थी इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र है या नही ।
2. छात्र के अभिभावक द्वारा स्वघोषित या किसी राजपत्रित अधिकारी द्वारा घोषित आय प्रमाण पत्र की आवश्कयता होती है । जिससे ये पता चल सके कि छात्र योजना की आय सीमा में आता है या नही ।
3. 10 वी कक्षा का प्रमाण पत्र
4. कॉलेज में जमा करवाई गई फीस की रसीद
5. आवेदक के बैंक खाते की फ़ोटो कॉपी
6. मूल निवास प्रमाण पत्र । यह सुनिश्चित करने के लिए की विद्यार्थि राजस्थान का मूल निवासी है या नही ।
7. BPL प्रमाण पत्र

आवेदन प्रक्रिया – इस योजना में ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरीको से आवेदन किया जा सकता है ।

1. ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट sje.rajasthan.gov.in पर जाकर उत्तर मेट्रिक छात्रवृति के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा । उसके बाद मांगी गई जानकारी सही सही भर कर फॉर्म को सबमिट करना है और मिलने वाले प्रिंटआउट को सम्हाल के रखना है ।
2. ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आवेदक को छात्र जिस राजकीय महाविद्याल में पढ़ रहा है वहाँ आवेदन कर सकता है । निजी महाविद्यालय में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को सामाजिक न्याय एवं अधिकारिकता विभाग में जाकर आवेदन कर सकते है ।

लाभ –

1. इस योजना से गरीब एवं मेधावी विद्यार्थियों को अपनी पढ़ाई करने की सुविधा प्राप्त होगी ।
2. आर्थिक रूप से अक्षम परिवार के विद्यार्थी भी अपना अध्ययन पूरा कर सकते है ।

 

4. राजस्थान अन्तर्जातीय विवाह प्रोत्साहन योजना-Rajasthan Sarkari Yojana 

 

आज कल होने वाली घटनाओं के कारण अन्तर्जातीय विवाह काफी बढ़ गए है । समाजिक संरचना ऐसी होने के कारण कई बार लड़के और लड़की को घर से भागना पड़ता है और कई बार पुलिस भी उन पर दबाव भी बनाती है । इस कारण से अन्तर्जातीय विवाहों को प्रोत्साहित करने के लिए राजस्थान सरकार ने इस योजना को शुरू किया है । इस योजना के तहत शादी करने वाले जोड़े को एक सहायता राशि दी जाती है जिससे वह जोड़ा अपना जीवनयापन करने के लिए कोई भी काम शुरू कर सके । इस योजना के नियम इस प्रकार बनाये गए है कि इस योजना का लाभ पात्र व्यक्ति को ही मिलेगा । अगर दी गई जानकारी और तथ्य गलत पाए जाते है तो उचित कार्यवाही का भी प्रावधान है ।

पात्रता –

इस योजना का लाभ लेने के लिए नींम पात्रता का होना आवश्यक है

1. आवेदन करने वाला व्यक्ति राजस्थान का निवासी होना चाहिए ।
2. आवेदन करने वाले कि उम्र 35 साल से अधिक नही होनी चाहिए ।
3. जो भी युवक व युवती शादी करना चाहते है वे किसी भी प्रकार से आपराधिक मामलों में दोषी नही होने चाहिए ।
4. विवाह का सरकार द्वारा जारी विवाह पंजिकरण प्रमाण पत्र होना आवश्यक है ।
5. इस योजना की राशि का लाभ लेने वाले व्यक्ति की सलाना आय 2 लाख 50 हजार से अधिक नही होनी चाहिए ।
6. जो भी जोड़ा इस राशि के लिए आवेदन करेगा उनका विवाह पहली बार ही होना चाहिए । यानी इससे पहले कोई कोई शादी नही की हो ।
7. विवाह होने के 1 साल अंदर उसे इस राशि के लिए आवेदन करना होगा ।

आवश्यक दस्तावेज

1. विवाह पंजीकरण प्रमाण पत्र
2. आधार कार्ड की फ़ोटो प्रति
3. वोटर कार्ड
4. पेन कार्ड
5. जाति प्रमाण पत्र
6. बर्थ सर्टिफिकेट
7. आय प्रमाण पत्र
8. जोड़े का संयुक्त फ़ोटो

आवेदन प्रक्रिया –

इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। इसके लिए इस योजना कि अधिकारिक वेबसाइट sjm.rajasthan.gov.in पर जाकर अन्तर्जातीय विवाह प्रोत्साहन योजना पर क्लिक करना है और मांगी गई आवश्यक जानकारी के साथ फॉर्म को भरकर सबमिट करना है ।
मांगे गए दसतावेज ऑनलाइन स्कैन करवा कर सबमिट करने होंगे । आवेदन विवाह के 1 वर्ष के अंदर की किया जाना आवश्यक है ।

लाभ

1. इस योजना से किसी भी लड़के या लड़की को घर से भागना नही पड़ेगा । क्योंकि उनकी शादी की सरकार द्वारा मान्यता दी जयेगी ।
2. इस योजना में दंपति को 5 लाख की सहायता राशि प्रदान की जाएगी ।
3. इस योजना में 2 लाख 50 हजार रुपए जरूरी आवश्यक सामग्री खरीदने के लिए दिए जाएंगे और बाकी के 2 . 50 लाख रुपये 8 साल के लिए फिक्स डिपाजिट के रूप रहेंगे ।
4. इन्हें एक मुश्त राशि मिलेगी जिससे जोड़े को अपना घर बसाने में सुविधा रहेगी ।
5. इससे समाज मे समरसता का भाव बढ़ेगा।

 

5. राजस्थान मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृति योजना-Rajasthan Sarkari Yojana 

 

काफी बार ऐसा होता है कि जो पढ़ने वाले विद्यार्थि होते है वे पढ़ नही पाते है क्योंकि उनकी आर्थिक स्तिथि ऐसी होती है कि वे पढ़ाई पर आने वाले खर्च को वहन नही कर पाते है । इस कारण उस बालक में छिपी प्रतिभा सामने नही आ पाती है और वह बालक अपने पैरों पर खड़ा नही हो पाता है । इसी समस्या के समाधान के लिए राजस्थान सरकार ने उच्च शिक्षा प्राप्त करने के इछुक गरीब विद्यार्थियों को छात्रवृति के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है ।]]]]

पात्रता

1. आवेदन करने वाला विद्यर्थि राजस्थान का मूल निवासी होना चाहिए ।
2. आवेदनकर्ता के परिवार की वार्षिक आय 2.5 रुपयों से अधिक नही होनी चाहिए ।
3. आवेदन करने वाले विद्यार्थी ने कक्षा 12 में 60 प्रतिशत अंक प्राप्त किये हो ।और उस विद्यार्थी ने बोर्ड की प्राथमिकता सूची में प्रथम 1 लाख में स्थान प्राप्त किया हो ।
4. राज्य की अन्य किसी छात्रवृत्ति योजना का लाभार्थी नही होना चाहिए ।

आवश्यक दस्तावेज

1. आधार कार्ड छात्र का
2. छात्र के माता पिता का आय प्रमाण पत्र
3. मूल निवास प्रमाण पत्र
4. बैंक खाता जो आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए ।
5. कक्षा 12 की अंकतालिका

आवेदन प्रक्रिया

इस योजना में आवेदन करने के लिए विद्यार्थियों को कॉलेज शिक्षा विभाग की वेबसाइट dce.rajasthan.gov.in पर जाकर फॉर्म डाउनलोड करना होगा और और मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति के विकल्प कर पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा और मांगी गई जानकारी उपलब्ध करवाकर सबमिट करना है ।

लाभ

1. आवेदन करने वाले छात्र छात्राओं को प्रतिमाह 500 रूपये की सहायता राशि सीधे बैंक खाते में दी जाएगी ।
2. इस योजना के तहत विद्यर्थियों को यह राशि 5 वर्ष तक दी जाएगी ।

 

6. राजस्थान मुफ्त स्कूटी योजना-Rajasthan Sarkari Yojana 

 

यह योजना लड़कियों के लिए है। घर से दूर स्कूल या कॉलेज होने के कारण काफी लडकिया उच्च शिक्षा के लिए नही जा पाती है और उन्हें अपनी पढ़ाई को बीच मे छोड़ना पड़ता है । घर की स्तिथि ऐसी नही होती कि आने जाने के लिए कोई परिवहन का साधन उपलब्ध करवाया जा सके । इसी समस्या के समाधान के लिए सरकार ने कक्षा 10 वी या 12 वी में 75 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने उन्हें स्कूटी उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है ।

पात्रता –

1. बालिका ने कक्षा 10 या 12 में 75 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त किये हो ।
2. आवेदन करने वाली छात्रा राजस्थान की मूल निवासी होनी चाहिए ।
3. छात्रा के माता पिता किसी सरकारी नौकरी में नही होने चाहिए
4. लड़की के माता पिता की सालाना आय 1 लाख से अधिक नही होनी चहिए ।

आवश्यक दस्तावेज

1. आधार कार्ड
2. कक्षा 12 की मार्कशीट
3. राजस्थान का बोनाफाइड
4. माता पिता का आय प्रमाण पत्र
5. मूल निवास प्रमाण पत्र

आवेदन प्रक्रिया

इस योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया निम्न है
आवेदन करने के लिए आवेदनकर्ता को dec.rajasthan.gov.in पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।
इस योजना के फॉर्म में सभी प्रकार की जो भी आवश्यक जानकारियां है वे ठीक प्रकार से भरी हुई होनी चाहिए ।

लाभ

1. लडकिया उच्च अध्ययन प्राप्त कर सकेंगी ।
2. दूरी के कारण लड़कियों को आने जाने में किसी असुविधा का सामना नहि करना पड़ेगा ।

 

7.देवनारायण छात्रा स्कूटी वितरण योजना -Rajasthan Sarkari Yojana 

 

यह योजना भी लड़कियों के लिए ही है । इस योजना में अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग की उन छत्राओ को शामिल किया गया है जिन्होंने कक्षा 12 में 50 प्रतिशत या इससे अधिक अंक प्राप्त किये हो।
इस योजना में सरकार द्वारा छत्राओ को स्कूटी , एक साल का बीमा , 2 लीटर पेट्रोल उपलब्ध करवाया जाता है।

पात्रता-

1. सर्वप्रथम छात्रा राजस्थान की मूल निवासी होना आवश्यक है ।
2. छात्रा के माता पिता की वार्षिक आय 2 लाख रुपये से अधिक नही होनी चहिए ।
3. आगे की पढ़ाई में यानी कक्षा 12 से स्नातकोत्तर तक कि पढ़ाई में कोई अंतराल नही होना चाहिए । ऐसा पाए जाने पर उन्हें इस योजना का लाभ नही मिलेगा ।

आवश्यक दस्तावेज

1. राजकीय महाविद्यालय में प्रवेश के समय जमा करवाई गई फीस की रसीद
2. परीक्षा की मार्कशीट
3. मूल निवास प्रमाण पत्र
4. बैंक अकॉउंट की पासबुक
5. आधार कार्ड
6. जाति प्रमाण पत्र

आवेदन प्रक्रिया

इस योजना में आवेदन करने के लिए इस योजना की अधिकारिक्त वेबसाइट पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा । ऑनलाइन फॉर्म में चाही गई जानकारी सही प्रकार से भरकर सबमिट करना है और मिलने वाले प्रिंटआउट को सम्हाल कर रखना है ।

लाभ

1. स्कूटी की चाहत में छात्राएं अपना बीच मे नही छोड़ेंगी जिससे महिला साक्षरता दर में बढ़ोतरी होगी ।
2. दूर अध्ययन के लिए जाने पर किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नही करना पड़ेगा ।

 

8. राजस्थान गरीब कल्याण रोजगार योजना -Rajasthan Sarkari Yojana 

 

कोरोना कला में बर्बाद हुई उद्योग धंधों के कारण बहुत से मज़दूर सड़क पर आगए है । उन्हें आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ रहा है । उनकी इसी समस्या के समाधान के लिए रेलवे ने 125 दिन तक चलने वाले एक प्रोजेक्ट की घोषणा की है जिंसमे काम करने वाले मजदुरों से रेलवे के प्रोजेक्ट को पूरा करवाया जाएगा और मजदूरों को रोजगार मिलेग ।

आवश्यक दस्तावेज

1. मूलनिवास प्रमाण पत्र जिससे ये स्पष्ट हो सके की ये राजस्थान का ही मूल निवाशी है ।
2. आवेदन करने वाले का आधार कार्ड आवश्यक है ।
3. आवेदन करने वाले का बैंक एकाउंट जो आधार से लिंक होना चाहिए ।

आवेदन प्रक्रिया

अभी इसका प्रस्ताव भेजा गया है राज्य सरकार को । जो भी व्यक्ति इस योजना के माध्यम से रोजगार प्राप्त करना चाहते है उन्हें अभी इसके लिए थोड़ा इंतजार करना होगा ।

लाभ

1. रोजगार मुहैया करवाने से मजदूरों को आर्थिक समस्या का सामना नही करना पड़ेगा
2. इससे प्रवासी मजदुरो को अन्य राज्यो में रोजगार के लिए नही भटकना पड़ेगा ।
3. राज्य में बेरोजगारी की दर कम होगी 

 

9. खाद्य सुरक्षा योजना -Rajasthan Sarkari Yojana 

 

खाद्य सुरक्षा योजना भारत सरकार द्वारा लागू की गई योजना है । इस योजना में गरीब परिवारों को बाजार मूल्य से बहुत की कम कीमत पर अनाज उपलब्ध करवया जाता है ।

पात्रता

1. व्यक्ति राजस्थान का मूल निवासी होना चाहिए ।
2. उसके परिवार की आय तय सीमा से अधिक नही होनी चाहिए ।

आवश्यक दस्तावेज

इस योजना का लाभ लेने के लिए निम्न आवश्यक दस्तावेज है
1. आधार कार्ड
2. भामाशाह कार्ड
3. राशन कार्ड
4. जाति प्रमाण पत्र

आवेदन प्रक्रिया

इस योजना में आवेदन करने के लिए अधिकारिक्त वेबसाइट emitraapp.rajasthan.gov.in पर जाकर अपनी लॉगिन id बनानि होगी ।इसके बाद आपको इस वेबसाइट पर NFSA सर्च करके अपना फॉर्म भरना होगा । मांगी गई सभी प्रकार की जानकारी भरनी है । मांगे गए आवश्यक दस्तावेज स्कैन करना होगा जिसके बाद आपको 40 रुपये का भुगतान भी करना होगा । इस तरह आपका इस योजना के लिए आवेदन पूरा हों जायेगा ।

लाभ

इस योजना से किसी भी गरीब परिवार को बिना भोजना के नही रहना पढ़ता है ।
इस योजना से बाजार मूल्य से बहुत ही कम कीमत पर अनाज उपलब्ध हो जाता है ।

 

10. राज कौशल योजना -Rajasthan Sarkari Yojana 

 

इस योजना के उद्देश्य कोरोना के कारण घर लौटे प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध करवाना है । इस योजना में रोजगार ही नही उपलब्ध करवाया जाएगा इसके तहत उन्हें प्रशिक्षित भी किया जाएगा। जिससे वे एक कुशल व्यक्ति बन सके । इससे प्रवासी मजदूरों को अपने ही राज्य में काम मिलेगा जिससे उन्हें किसी अन्य राज्य में जाकर काम नही ढूंढना पड़ेगा । इस पोर्टल को राजस्थान के वर्तमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 5 जून 2020 को हरी झंडी दिखा कर इनका शुभारंभ किया है।

पात्रता

आवश्यक दस्तावेज

1. आवेदन करने वाले व्यक्ति के पास स्वयं का आधार कार्ड होना आवश्यक है।
2. भामाशाह रजिस्ट्रेशन नंबर भी आवश्यक है ।
3. नियोक्ताओं के पास BRN होना आवश्यक है अगर नही है तो इसकी आधिकारिक वेबसाइट br.raj.nic.in./BRNApply.aspx# जाकर अप्लाई कर सकते है।

आवेदन प्रक्रिया

सबसे आपको इस योजना की अधिकारिक वेबसाइट rajkaushal.rajasthan.gov.in पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा । इसमे मांगी गई सभी प्रकार की जानकारी को सही सही भरना है । सभी प्रकार की जानकारी भरने के बाद आपको इसे सबमिट करना होगा । इस प्रकार आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा ।

लाभ

1. इस योजना से बेरोजगारो को रोजगार के समुचित अवशर प्राप्त होंगे ।
2. इसमे कारोबारी भी अपना पंजीकरण करवाकर श्रमिक की संख्या आसानी से जुटा पाएंगे ।
3. ऐसे बेरोजगार लोगो को भी प्रशिक्षित किया जाएगा जो आज से पहले किसी भी प्रकार का कोई रोजगार या कार्य नही करते थे।
4. इससे बेरोजरी दर कम होगी और मजदूरों की आर्थिक स्तिथि मजबूत होगी ।