October 29, 2020

THF

THE HINDI FACTS

National Digital Health Mission ya hai ?

क्या हो अगर आप डॉक्टर के पास अपनी किसी बीमारी के इलाज के लिए गए हो और उस बीमारी से सम्बंधित जांचों को आप घर भूल गए हो ?

क्या हो अगर आप अपनी किसी पुरानी बीमारी की दवा लेने मेडिकल स्टोर गये हो और डॉक्टर की पर्ची गिर गयी हो ?

क्या हो अगर आप किसी और डॉक्टर के पास अपना इलाज करवाने गए हो लेकिन पुराने डॉक्टर से सम्बंधित सभी प्रकार की दवाओं की जानकारी , जांचे , रिपोर्ट्स सभी कुछ आप लेकर आये थे लेकिन वे सब एक बस में ही रह गए जिससे आप आये थे और अब बस भी जा चुकी हो ? ( National Digital Health Mission)

ऐसी काफी परेशानियां है जिनका सामना हमे अपने दैनिक जीवन मे करना पड़ता है और जब ऐसा होता है तो हमारा समय खराब होता है , हमारा पैसा बर्बाद होता है । ( National Digital Health Mission)

एक अमीर व्यक्ति के लिए ये कोई बड़ी बात नही है लेकिन जब ऐसी परेशानियां एक सामान्य या गरीब परिवार को आती है यो बहुत बड़ी मुश्किल हो जाती है । व्यक्ति के जीवन मे उसके स्वास्थ्य की बहुत बड़ी कीमत होती है और वह स्वस्थ कैसे रह सकता है ? , लंबे समय तक जीवित कैसे रह सकता है ? इसी में उसका काफी पैसा और समय भी खराब हो जाता है । कई बार कुछ डॉक्टर केवल पैसा बनाने के इरादे से मरीज को इलाज के नाम पर सीर्फ बेवकूफ बनाते रहते है । वह व्यक्ति चाह कर भी कुछ नही कर पाता है । अब इन सभी बातों पर लगाम लगने वाली है । ( National Digital Health Mission)

अब आपको मेडिकल स्टोर से दवा खरीदने जाते समय दवा की पर्ची साथ ले जाने की आवश्यकता नही होगी। आपको कौनसी दवा चाहिए या डॉक्टर ने आपको कौनसी दवा आपको जारी की है वह अपने आप आपको दे देगा । ( National Digital Health Mission)

डॉक्टर को अपनी जांचे दिखाने जाने वक्त आपको बहुत सारी जांचों का वजन लेकर जाने की जरूरत नही होगी क्योकि आपने क्या जांच करवाई है और उसकी क्या रिपोर्ट आई है इसकी जानकारी डॉक्टर को पहले से होगी। आप आप घर बैठे बैठे अपने डॉक्टर से बात कर सकते है उनसे अपनी बीमारी के इलाज के बारे जानकारी और इलाज दोनों प्राप्त कर सकते है । आप घर बैठे बैठे देश के किसी भी प्रशिद्ध डॉक्टर को बिना उसके पास गए उससे अपनी बीमारी का इलाज करवा सकते है । ( National Digital Health Mission)

सुनने में ये सब अजीब सा लग रहा होगा । आपको लग रहा होगा कि मैं आपको किसी साइंस फिक्शन पिक्चर की कहानी सुना रहा हूं । आपको लग रहा होगा कि मैं किसी अल्लादीन के चिराग की बात कर रहा हु जो घर बैठे ये सब सम्भव कर दे । ( National Digital Health Mission)( National Digital Health Mission)

ये सब अब सम्भव होने वाला है क्योकि माननीय प्रधानमंत्री जी 74 वे स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से देश मे एक नए मिशन डिजिटल नेशनल हेल्थ मिशन ( National Digital Health Mission) की घोषणा की है ।

इस मिशन ( National Digital Health Mission) के तहत प्रत्येक व्यक्ति को आधार कार्ड की तरह एक स्वस्थ्य यूनिक आई डी जाएगी। इस आई डी में व्यक्ति के स्वास्थ्य की सम्पूर्ण जानकारी समाहित होगी ।

इस आई डी में आपने किस डॉक्टर से कब , कौनसी जांच करवाकर, कौनसी दवा ली थी । आप लास्ट बार कर अपने डॉक्टर से मिले था या लास्ट बार आप किस डॉक्टर से मिले थे जैसी सम्पूर्ण जानकारी इस आई डी में समाहित होगी ।

इस आई डी से बिना पर्ची के डॉक्टर की लिखी दवाइयां आपको मिल जाएगी । इससे देश मे एक डेटा सेंटर में देश के प्रत्येक नागरिक का स्वास्थ्य डेटा मौजूद होगा ।

Also Read

 

इससे सबसे बड़ा फायदा ये होगा कि डॉक्टरों को मरीजो के डेटा को रखने के लिए बड़ी बड़ी फाइलो को नही रखना पड़ेगा । आयुष्मान भारत योजना की तरह ही डिजिटल हेल्थ मिशन ( National Digital Health Mission) भी दूर दराज के क्षेत्रो में रहने वाले लोगो के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा । इसके तहत पर्सनल मेडिकल रिपोर्ट , जांच केंद्र , मेडिकल संस्थान , और स्टेट मेडिकल काउंसिल को डिजिटल किया जाएगा , ताकि देश के किसी भी कोने से कही से भी लोगो को किसी भी चिकित्सक से इलाज सम्बन्धी जानकारी मिल सके । ( National Digital Health Mission)

ये योजना सच में मेडिकल क्षेत्र में किसी अल्लादीन के चिराग से कम नही है , तो चलिये जानते इस अल्लादीन के चिराग के बारे में सम्पूर्ण जानकारी ।

चार चरणों मे लागू किया जाएगा National Digital Health Mission

 

प्रथम चरण –( National Digital Health Mission)

इस योजना को देश में चार चरणों मे लागू किया जाएगा । इस योजना के प्रथम चरण में देश के प्रत्येक नागरिक को एक यूनिक हेल्थ आई डी उपलब्ध करवाई जाएगी ,। इसके बाद प्रत्येक व्यक्ति का पर्सनल हेल्थ रिकॉर्ड तैयार किया जाएगा जिसमे उसके स्वाथ्य से सम्बंधित हर महत्वपूर्ण डेटा सुरक्षित होगी । डॉक्टरों को डिजिटल किया जाएगा जिससे देश मे किसी भी कोने में बैठे किसी भी व्यक्ति को किसी भी डॉक्टर से बात करने में किसी भी परेशानी का सामना ना करना पड़े ।

 

द्वितीय चरण -( National Digital Health Mission)

 

इस चरण में देश की हेल्थ फैसिलिटी को रजिस्टर्ड किया जाएगा । ताकि देश का प्रत्येक व्यक्ति मेडिकल क्षेत्र में किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी से बच सके । वह एक रजिस्टर्ड हेल्थ संस्थान से ही अपना इलाज ले सके ।

 

तृतीय चरण -( National Digital Health Mission)

 

इस योजना के तृतीय चरण में ई – फार्मेसी की शुरुआत की जाएगी ताकि देश के हर व्यक्ति को दवाओं से सम्बन्धित हर प्रकार की जानकारी मिल सके । इनसे रोगी के साथ दवाओं की होने वाली धोखाधड़ी को रोकने में मदद मिलेगी ।

 

चौथा चरण -( National Digital Health Mission)

 

इस योजना का ये सबसे महत्वपूर्ण और आवश्यक चरण है । इस चरण में टेलीमेडिसिन सेवा को शामिल किया जाएगा । इससे दूर दराज के क्षेत्रों में भी एक अच्छे डॉक्टर की सुविधा इंटरनेट के जरिये उपलब्ध हो सकेगी ।

 

इस योजना के लाभ -( National Digital Health Mission)

 

1. आपको एक हेल्थ आई डी मिलेगी जिंसमे हर बीमारी , हर परीक्षण भी शामिल होने। इस आई डी में सभी डॉक्टरों के साथ साथ नैदानिक परीक्षण और निर्धारित दवाओं के परिणाम शामिल होंगे । इस आईडी में हमे ये विकल्प भी दिया जाएगा की आप इसे अपने आधार से लिंक करवाते है या नही । इस आईडी में आपकी निजात का पूरा ख्याल रखा गया ।

 

2. इस आईडी में आपका पर्सनल हेल्थ केयर रिकॉर्ड रहेगा । इससे आपको कहि पर भी किसी भी डॉक्टर को दिखाते समय भारी भरकम जांचों की रिपोर्ट को अपने साथ रखने की आवश्यकता नही होगी । इस आईडी में आप कौनसी बीमारी का इलाज ले रहे है । अपने इस बीमारी से सम्बंधित कौन कौनसी जांचे करवाई है उनकी रिपोर्ट क्या है । आप कौनसी दवा ले रहे है अभी प्रकार की जानकारी समाहित होगी ।

 

3. आपको डीजी डॉक्टर की सुविधा मिलेगी जिससे आप देश मे कहि भी किसी डॉक्टर से परामर्श ले सकेंगे वो भी घर बैठे बैठे।

 

4. आपकी हेल्थ फेसिलिटी रजिस्टर्ड की जाएगी ।

 

5. टेलीमेडिसिन की सुविधा मिलेगी । इससे दूर दराज के क्षेत्रों में भी डॉक्टर की सुविधा उपलब्ध हो पाएगी । क्योकि दूर के क्षेत्रो में डॉक्टर जाने से कतराते है जिसके परिणाम स्वरूप ये क्षेत्र स्वास्थ्य सेवा से वंचित रह जाते है । टेलीमेडिसिन से बिना डॉक्टर के उस स्थान पर गए भी आपको उन डॉक्टर की सुविधा आसानी से मिल पाएगी ।

 

6. ई – फार्मेसी की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी । जिससे व्यक्ति को दवाओं के बारे में सम्पूर्ण जानकारी आसानी से प्राप्त हो सकेगी ।

 

7. इलाज के नाम पर पैसे नही ठगे जा सकेंगे क्योकि अगर डॉक्टर ने गैर जरूरी दवाइयां लिख दी तो उसकी जवाबदेही तय होगी । जिससे आम आदमी को काफी राहत मिलेगी । ( National Digital Health Mission)

 

8. टीकारण का रिकॉर्ड रखना आसान होगा क्योकि जन्म लेने वाले हर बच्चे की जानकारी मिलने वाली हेल्थ आई डी से जुड़ी होगी । जिससे किसे किस समय पर कौनसा टिका लगाया जाने वाला है इसकी सम्पूर्ण जानकारों एक क्लिक पर उपलब्ध होगी। जिससे मेडीकल फाइल रखने और अस्पतालों में बड़ी मात्रा में रिकॉर्ड रखने की आवशक्यकता नही होगी ।( National Digital Health Mission)

 

9. फर्जी बिलो पर लगाम लगेगी क्योकि इलाज करवाने वाले हर व्यक्ति का एक डिजिटल रिकॉर्ड होगा और उसने कोनसा इलाज लिया है इसकी भी जानकारी भी होगी जिससे फर्जी मेडिकल बिलो पर लगाम आसानी से लग पाएगी ।

 

10. अब बिना डॉक्टर की पर्ची जे जाए बिना भी मेडिकल स्टोर से दवा खरीद सकेंगे क्योकि हेल्थ आई डी में डॉक्टर ने कौनसी दवा लिखी है इसकी पूरी जानकारी उपलब्ध होगी ।

 

क्या है इस योजना का उद्देश्य -( National Digital Health Mission)

 

1. इस मिशन का मुख्य उद्देश्य देश के नागरिकों का एक डिजिटल हेल्थ सिस्टम बनाना ताकि अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करवाई जा सके ।
2. देश के नागरिकों के हेल्थ डेटा को मैनेज करना
3. हेल्थ डेटा कलेक्शन की क्वालिटी और प्रसार को बढ़ाना
4. एक ऐसा प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाना जहाँ पर हेल्थकेयर डेटा की परस्पर उपलब्धता हो ।
5. पूरे देश के लिए अपडेटेड और सही हेल्थ रजिस्टर को तैयार करना और लोगो तक उसकी जानकारी पहुंचाना ।
6. यह मिशन संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास के लक्ष्य 3.8 के सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज की दिशा में एक बड़ी उपलब्धि है ।

 

हेल्थ आई डी कार्ड कैसे बनाया जाएगा -( National Digital Health Mission)

 

हेल्थ आई डी कार्ड को व्यक्ति के मोबाइल नंबर और आधार
कार्ड की सहायता से बनाया जाएगा ।ये एक स्वैछिक सुविधा है अगर कोई व्यक्ति इसे नही बनवाना चाहता है तो भी उसे इलाज की सुविधा दी जाएगी ।

Also Read

 

कब से लागू होगी ये योजना -( National Digital Health Mission)

 

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के 74 वे स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से दीये गए भाषण में 15 अगस्त 2020 से ये योजना लागू की गई है ।
केंद्रीय स्वस्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय मंत्री श्री हर्षवर्धन के अनुसार – ” यह योजना चंडीगढ़ , लद्दाख , दादरा और नगर हवेली , दमन और दीव , पुड्डुचेरी , अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह और लक्षद्वीप में एक पायलट लांच के माध्यम से शुरू की जाएगी । केंद्र शासित प्रदेशों में प्रारंभिक लर्निंग के साथ , इस योजना को राज्यो में भी लांच किया जाएगा । “

वित्त मंत्रालय ने इस प्रस्तावित योजना के लिए 470 करोड़ रुपये की मंजूरी दे दी है. NHA ने इसका एप और वेबसाइट भी तैयार कर लिया है । आयुष्मान भारत की तरह ही ये योजना पूरे देश में लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध कराने में कारगर होगी ।

#National Digital Health Mission

# National Digital Health Mission