October 29, 2020

THF

THE HINDI FACTS

Harshavardhan Neotia

Harshavardhan Neotia-अपने मनपसंद काम को करके कैसे 2000 करोड़ का कारोबार खड़ा किया ।

Harshavardhan Neotia-अपने मनपसंद काम को करके कैसे 2000 करोड़ का कारोबार खड़ा किया ।

हमारे में से कई लोगो के दिल मे कुछ कर गुजरने का एक जुनून होता है । कई बार हमें अपने सपनो को जीने का मौका मिलता है तो कई बार हमें अपने सपनो के अनुसार जीने के लिए एक बड़े संघर्ष का सामना करना पड़ता है ।

ये एक ऐसे कारोबारी की कहानी ने है जिसने अपने परम्परागत व्यवसाय को छोड़कर अपने मन के कार्य को करने का निश्चय किया और सबको ये दिखाया की परम्परागत काम को छोड़कर और अपने मन को भाने वाले काम को करके भी सफल बना जा सकता है । ये कहानी है हर्षवर्धन नेओटीआ (Harshavardhan Neotia) की जिन्होंने अपने परम्परागत सीमेंट के व्यवसाय को छोड़कर रियल स्टेट के क्षेत्र में एक अलग पहचान बनाई है ।

कोलकाता के एक मारवाड़ी परिवार में Harshavardhan Neotia का जन्म हुआ था । इनके परिवार का सीमेंट का व्यवसाय था और इनके परिवार के लोग यही चाहते थे कि ये हर्षवर्धन अपने परिवार के व्यवसाय को सम्हाले लेकिन हर्षवर्धन की रुचि तो कला के क्षेत्र में थी । इन्हें रियल स्टेट से काफी लगाव था और ये इसी में अपना करियर बनाने का सपना देखते थे ।

इनका परिवार एक आर्टिस्ट परिवार था । कला के प्रति आकर्षण तो इनकी रगों में बह रहा था क्योकि इनके चाचा जी एक कला इतिहासकार थे और परिवार अनामिका कला संगम के कल्चर सेंटर से जुड़ा हुआ था ।

हर्षवर्धन को बचपन से ही रॉकगार्डन बनाने का शौक था और इसे ये अपने घर के बगीचे में पूरा करते थे । 1982 में इन्होंने अपनी कॉलेज शिक्षा पूरी की तो परिवार ने इन्हें कारोबार सम्हालने के लिए कहा था इन्होंने मना करके बगावत खड़ी कर दी ।

एक घटना ने इनके जीवन को ही बदल दिया । एक बार जब इनके पिताजी के दोस्त को अपना घर इसलिए बेचते हुए सुना कि वे इसे दोबारा बनवाना चाहते है । इतना सुनते ही लगा इन्हें अपने मन की मुराद पूरी होते हुए दिखाई देने लगी और इन्होंने उस घर को बनाने का जिम्मा खुद लिया । 2 साल में उन्होंने इस काम को पूरा किया और यही उनका पहला काम था और इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नही देखा ।

पिछले तीस सालों से Harshavardhan Neotia रियल स्टेट के कारोबार में है । इन्होंने अपना कारोबार अलग अलग तरह से फैलाया जैसे मॉल बनाना , हॉस्पिटल बनाना , स्कूल बनाना , काम्प्लेक्स , हाउसिंग सोसायटी , टाउनशिप आदि बनाना । कुछ प्रसिद्ध रियल स्टेट के निर्माण जो इन्होंने किये है उनमें से प्रमुख है – कोलकाता का सिटी सेंटर , आइकोनिक स्वभूमि का निर्माण , उन्होंने दो फाइव स्टार प्रोपर्टी रेचक गंगा नदी के किनारे बीबी बनाई है । इनके द्वारा निर्माण किया हुआ पहला फाइव स्टार रिसोर्ट फोर्ट रेचक और दूसरा गंगा कुटीर है ।

जब इन्होंने अपने परम्परागत व्यवसाय को छोड़ने का फैसला लिया था और रियल स्टेट के व्यवसाय में कदम रखा था तब किसी मे नही सोचा होगा कि इनके द्वारा खड़ी की हुई कंपनी अम्बुजा नेओटीआ ग्रुप का कारोबार लगभग 2000 करोड़ का होगा । इन्होंने अपनी अदम्य इच्छाशक्ति का परिचय दिया और जो खुद को अच्छा लगा वह किया और उसमें भी पूरी दुनिया के लिए एक ऐसा आदर्श प्रस्तुत किया जो युवा उधमियों को और अन्य क्षेत्र के युवाओं को अपने अनुसार अपने सपने पूरे करने की एक अदभुत प्रेरणा देता है । लीक से हटकर चलने की प्रेरणा देता है । इनका जीवन हमे प्रेरणा देता है बस एक बार अपने सपनो की मंजिल की तरफ पूरी दृढ़ता और धैर्य के साथ एक कदम बढ़ाइए मंजिल खुद ब खुद दो कदम तुम्हारी तरफ लौट आएगी ।
हर्षवर्धन जी को साल 1999 में पद्मश्री पुरुस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है ।

 

यह bhi पढे